विद्युत बिल के विरुद्ध आन्दोलन

विद्युत बिल के विरुद्ध आन्दोलन
अगस्त 2020 से विद्युत बिल जमा नहीं करने का राजस्थान में सबसे बड़ा आंदोलन किया जा रहा है ।
मैं मानता हूं राजस्थान के सभी लोग सहमत होंगे ।
यह बिल इसलिए जमा नहीं कराया जा रहा है कि यह बिल उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम 1986 व संशोधित अधिनियम 2019 के विरुद्ध है व कोविड-19 के भी विरुद्ध है ।
अधिकार मांगने से नहीं मिलता है, इस के लिए एक आन्दोलन खड़ा करना होगा ।
यह आन्दोलन विद्युत बिल जमा नहीं करने से ही सम्भव है ।
बिल नहीं जमा करने के साथ-साथ सभी लोग अपने अपने क्षेत्र के J.E.N./A.E.N. कार्यालय को लिखित में भी दिया जावे कि मैं बिल तब तक जमा नहीं कराऊंगा तब तक उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम 1986 व संशोधित अधिनियम 2019 के अन्तर्गत विद्युत बिल नहीं दिया जाता है ।
उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम 1986 व संशोधित अधिनियम 2019 के अन्तर्गत बिल आता है तो विद्युत यूनिट के अलावा किसी भी प्रकार की राशि वसूल ने का अधिकार विद्युत विभाग के पास नहीं होगा । जैसे — 100 यूनिट आये या 1000 यूनिट , एक रुपए प्रति यूनिट के रुपए लिए जाएंगे ।
आप सहमत हो तो यह समाचार ( मैसेज ) अपने अपने व्हाटस अप, फेसबुक व मैसेज पर भेजे । जिस से एक बड़ा आंदोलन खड़ा किया जा सके ।
( देश को आजादी यु ही नहीं मिली थी, उस के लिए भी एक आन्दोलन खड़ा किया गया था । बिना आन्दोलन के फर्जी विद्युत बिल से आजादी नहीं मिलेगी । ) राजस्थान सरकार ने राष्ट्रीय नियम उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम 1986 व संशोधित अधिनियम 2019 के विरुद्ध समानांतर फर्जी कानून राजस्थान विद्युत विनियामक आयोग जयपुर बना रखा है । जिस के माध्यम से आम विद्युत उपभोक्ताओं को लूटा जा रहा है ।
धन्यवाद

अपने दस, कम से कम 10 मित्रो को, आज और अभी अभी सब काम छोड़कर अग्रेसित करे
Copy Post

About the author

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: